प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने शुक्रवार को संयुक्त रूप से जनकपुर से अयोध्या के बीच मैत्री बस सेवा की शुरुआत की. यह बस 34 यात्रियों को लेकर आज जनकपुर से अयोध्या पहुंच गई है. सीएम योगी आदित्यनाथ ने रामकथा पार्क में जनकपुर-अयोध्या पहली बस सर्विस का स्वागत  किया.

इसके पहले बस रात 1 बजकर 50 मिनट पर भारतीय सीमा के भिठामोड पहुंची थी, जहां सीमा सुरक्षा अधिकारियों ने बस का स्वागत किया. बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिवसीय यात्रा पर नेपाल में हैं और यहां उन्होंने जनकपुर में जानकी मंदिर का दर्शन भी किया.

जनकपुर-अयोध्या के बीच मैत्री बस सेवा शुरू करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि भारत और जनकपुर का नाता अटूट है. उन्होंने कहा कि मैं सौभाग्यशाली हूं, जो माता जानकी के चरणों में आने का मौका मिला. उन्होंने इस बस सेवा का उद्घाटन करते हुए कहा, ‘जनकपुर और अयोध्या जोड़े जा रहे हैं. यह बस सेवा नेपाल और भारत में तीर्थाटन को बढ़ावा देने से संबंधित रामायण सर्किट का हिस्सा है.’

गौरतलब है कि यह बस रामायण सर्किट के दो सबसे महत्वपूर्ण स्थानों को जोड़ेगी. साथ ही यह बस सेवा दोनों देशों के पर्यटकों को तीर्थ यात्रा की सुविधा प्रदान करने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी, जिससे दोनों देशों के संबंध और मजबूत करने में मदद मिलेगी.

बस के भारत में भ्रमण के लिए आवश्यक परमिट भारतीय दूतावास काठमांडू के द्वारा निर्गत किया गया है. इस ऐतिहासिक अवसर पर भिठामोड स्थल सीमा शुल्क के अधिकारियों द्वारा यात्रियों को कस्टम क्लीयरेंस देने के अलावा विशेष रूप से उन यात्रियों के पारंपरिक स्वागत की व्यवस्था भी की थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here