भोपाल। लाल परेड मैदान में शनिवार को पुलिस स्मृति दिवस परेड आयोजित हुई। इसमें शहीदों की पुष्पांजलि देते समय तथा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के उनके परिजनों से मुलाकात का दृश्य देखकर हर व्यक्ति भावुक हो गया। यहां 26वीं बटालियन के हवलदार शहीद धीरज मरावी के दो नन्हें बेटे अपने पिता की तस्वीर को निहारते रहे। छह साल का बड़ा बेटा देवप्रकाश, जहां मां के हाथों से तस्वीर को खुद पकड़ने का प्रयास कर रहा था तो दो साल का वेद पिता की तस्वीर पर नन्हीं हथेली फेर रहा था।

उन्हें शायद यह आभास नहीं था कि पिता अब इस दुनिया में नहीं है। धीरज की पत्नी सुरेखा पति की तस्वीर को लेकर खड़ी थी और उसके चेहरे के भाव से स्पष्ट झलक रहा था कि वह उस तस्वीर को जीने का सहारा मान चुकी है। वहीं, शहीद मरावी के बूढ़े माता-पिता की आंखों में आंसू भरे थे। पिता रामलाल ने तो बेटे के बलिदान को साष्टांग प्रणाम किया। मां दशिया बाई भी रुंधे गले सीएम को अपने बेटे के बलिदान की कहानी सुनाती रहीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here