चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत ने चीन के साथ रिश्तों को लेकर नेपाल को आगाह किया है. उन्होंने गुरुवार को एक कार्यक्रम में कहा कि भारत की सद्भावना किसी डोर से नहीं जुड़ी है. सीडीएस रावत ने नेपाल को नसीहत दी कि अंतरराष्ट्रीय मामलों में वह स्वतंत्र तौर पर कार्य कर सकता है, लेकिन उसे श्रीलंका और अन्य देशों से सीखते हुए सतर्क रहना चाहिए.

जनरल बिपिन रावत ने कहा कि नेपाल को श्रीलंका और अन्य देशों से सीखना चाहिए, जिन्होंने इस क्षेत्र के अन्य देशों के साथ भी समझौते किए हैं. जनरल रावत का ये बयान तब आया है जब चीन कई परियोजनाओं के साथ हिमालयी राष्ट्र में अपने प्रभाव का विस्तार कर रहा है. बिपिन रावत ने इसके साथ ही नेपाल और भारत के बीच मजबूत संबंध की तुलना हिमालय की ऊंचाई और हिंद महासागर की गहराई से की.

भारत-नेपाल के बीच मजबूत संबंध पर जोर देते हुए जनरल रावत ने कहा कि दोनों देशों के बीच का संबंध हिमालय जितना ऊंचा और हिंद महासागर जितना गहरा है. CDS जनरल रावत ने दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंधों की महत्‍ता को दोहराया और कहा कि भारत और नेपाल अद्वितीय हैं और सदियों से मौजूद हैं. इनके बीच काफी पवित्र और मजबूत संबंध हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here