दिल्लीवासियों के लिए अच्छी खबर है. सूत्रों के मुताबिक, दिसंबर के आखिरी हफ्ते में कोरोना वैक्सीन की पहली शिपमेंट दिल्ली पहुंच जाएगी. हालांकि, अभी साफ नहीं है कि कोरोना वैक्सीन की पहली खेप किस कंपनी की होगी. इस बारे में अभी आधिकारिक तौर पर सरकार या प्रशासन की ओर से कोई बयान जारी नहीं किया गया है.

दिल्ली के राजीव गांधी अस्पताल में कोरोना वैक्सीन को रखने की तैयारी है. नया कोल्ड स्टोरेज तैयार हो गया है. पहले चरण के टीकाकरण में स्वास्थ्यकर्मियों को वैक्सीन लगाने की तैयारी है. दिल्ली में दो जगहों को कोरोना वैक्सीन केंद्र के लिए चिन्हित किया गया है. इसमें राजीव गांधी सुपर स्पेशिएलिटी अस्पताल का भी नाम शामिल है.

कोल्ड स्टोरेज के जरिए दिल्ली के भीतर 600 जगहों पर कोरोना वैक्सीन मुहैया कराने की तैयारी है. राजीव गांधी अस्पताल के ग्राउंड फ्लोर और पहली मंजिल पर डीप फ्रीजर, कूलर, कोल्ड स्टोरेज बॉक्स, और वैक्सीन के रखे जाने संबंधी अन्य जरूरी चीजों को लगाया गया था. 15 दिसंबर तक ये सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं.

कोल्ड स्टोरेज में अलग-अलग वैक्सीन के लिए -40 डिग्री,-20 डिग्री और 2 से 8 डिग्री के बीच के तापमान के लिए फ्रीजर लगाए गए हैं. मौजूदा वक्त की बात करें तो फाइजर इंडिया, सीरम इंस्टीट्यूट ऑक्सफोर्ड वैक्सीन कोविशील्ड और भारत बायोटेक की कोवैक्सीन आपात स्थिति में प्रयोग के लिए अनुमति पाने की दौड़ में हैं.

राजीव गांधी सुपर स्पेशिएलिटी अस्पताल के डायरेक्टर डॉक्टर बीएल शेरवाल ने कहा कि, टीकाकरण के दौरान डॉक्टर, स्वास्थ्यकर्मी और अन्य लोग एहतियात के तौर पर मौजूद रहेंगे. वैक्सीन के सही वितरण के लिए सुरक्षा के भी इंतेजाम किए जाएंगे. जिससे कि वैक्सीन सही हाथों में पहुंच सके और लोगों को परेशानी ना हो.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here