अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर जागरूकता फैलाने के लिए पश्चिमी मध्यप्रदेश में निकाली गईं वाहन रैलियों पर पथराव को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को कहा कि उपद्रवियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। अधिकारियों ने बताया कि राज्य के उज्जैन शहर और इंदौर जिले के चांदनखेड़ी गांव में पिछले आठ दिनों के दौरान निकाली गई इन रैलियों पर पथराव की तनावपूर्ण घटनाएं सामने आई हैं।

इन घटनाओं के बारे में पूछे जाने पर चौहान ने यहां संवाददाताओं से कहा, “उपद्रवी कोई भी व्यक्ति हो, कानून अपना काम करेगा। प्रदेश सरकार ऐसी गड़बड़ करने वाले लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी।” मुख्यमंत्री ने कहा, “सुशासन में कानून- व्यवस्था भी शामिल है। हम प्रदेश को शांति का टापू बनाए रखेंगे। हमारी सरकार सज्जनों के लिए फूल से भी ज्यादा कोमल है, लेकिन यदि कोई व्यक्ति दुष्ट और माफिया है, तो उसके लिए हमारी सरकार वज्र से भी ज्यादा कठोर रहेगी।”

कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि प्रदेश के स्थानीय निकाय चुनाव इसलिए टाल दिए गए क्योंकि केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों को लेकर किसानों के विरोध के चलते माहौल सत्तारूढ़ भाजपा के खिलाफ है। इस आरोप पर पलटवार करते हुए चौहान ने कहा, “कांग्रेस तो रोती ही रहती है। इसमें हम क्या करें? कांग्रेस के नेता (राहुल गांधी) पार्टी के स्थापना दिवस के अवसर पर विदेश यात्रा पर निकल जाते हैं। कांग्रेस की न तो कोई दिशा है, न ही कोई गति है।”

मुख्यमंत्री ने बताया कि कोविड-19 टीकाकरण के पूर्वाभ्यास (ड्राय रन) के लिए प्रदेश सरकार ने तैयारी पूरी कर ली है। उन्होंने कहा, “हमने केंद्र सरकार से चर्चा के बाद स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के प्रशिक्षण और टीके के लिए कोल्ड चेन बनाए रखने की व्यवस्था कर ली है। केंद्र की हरी झंडी मिलते ही हम राज्य में कोविड-19 टीकाकरण का ड्राय रन शुरू कर देंगे।” चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश की अर्थव्यवस्था की रफ्तार बढ़ाते हुए अधिक से अधिक रोजगार सृजित करना और सूबे को आत्मनिर्भर बनाना उनकी नए साल की प्राथमिकताओं में शुमार है। उन्होंने कहा, “आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश के लक्ष्य के तहत हम शिक्षा और स्वास्थ्य पर भी विशेष ध्यान केंद्रित कर रहे हैं।”

इससे पहले, चौहान, वैश्‍विक आवासीय प्रौद्योगिकी चुनौती-भारत (जीएचटीसी-भारत) के “लाइट हाउस प्रोजेक्ट” के तहत प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी द्वारा छह राज्‍यों के छह शहरों में मकानों की आधारशिला रखे जाने के कार्यक्रम में वीडियो कॉन्फ्रेंस से शामिल हुए। चौहान ने बताया कि इस परियोजना के तहत इंदौर में आधुनिक तकनीकी का उपयोग करते हए 128 करोड़ रुपए की लागत से 1,024 फ्लैट बनाए जाएंगे। अधिकारियों ने बताया कि मुख्यमंत्री ने शुक्रवार सुबह पंचशील नगर में वंचित तबके के लोगों से मिलकर नये साल की शुरुआत की और उन्हें प्रदेश सरकार की ओर से अलग-अलग मद में सहायता राशि दिलवाई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here