आखिरकार वैक्सीन को लेकर कयास का दौर खत्म हो गया। उम्मीदों के टीके की पहली खेप बुधवार को शहर में 4 बजकर 25 मिनट पर पहुंचेगी। फ्लाइट मुंबई से 13 बॉक्स में 15 हजार 200 वैक्सीन के डोज लेकर इंदौर पहुंचेगी। इसके पहले 8 बॉक्स् में वैक्सीन के 9400 डोज लेकर मुंबई से उड़कर सुबह 11 बजकर 30 मिनट पर फ्लाइट भोपाल पहुंची। जबलपुर में 13 बॉक्स में 15 हजार 100 डोज लेकर शाम 6 बजकर 10 मिनट में स्पेशल प्लाइट लैंड करेगी। वहीं, ग्वालियर में रेफ्रिजरेटर वैन के जरिए 10 बॉक्स में 10 हजार 950 डोज भेजे जा रहे हैं। इस प्रकार से प्रदेश में 44 बॉक्स में 50 हजार 650 डोज वैक्सीन पहली ही खेप में मिल रही है। एयरपोर्ट अथाॅरिटी ऑफ इंडिया कार्गो लाॅजिस्टिक एंड एलाइड सर्विस कंपनी के चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर के. सेल्वा कुमार ने वैक्सीन आने की जानकारी दी।

इंदौर में 8 लांचिंग सेंटर

आठ केंद्रों को लॉन्चिंग सेंटर बनाया है। जिले के 26 हजार 400 स्वास्थ्यकर्मियों को सबसे पहले टीका लगाया जाना है। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग जिले के 101 केंद्रों में व्यवस्थाएं जुटाने में लगा है। इनमें 75 केंद्र शहर में बनाए जा रहे हैं। संभागायुक्त डॉ. पवन शर्मा ने बताया वैक्सीन मिलने के बाद संभाग स्तर से जिलों के लिए इन्हें भिजवाया जाएगा। वैक्सीन सुरक्षित तरीके से फोकल पॉइंट तक पहुंचाने के लिए हमारे पास रेफ्रिजरेटेड-वैन है। संभाग स्तर पर हमारे पास तीन वैन है। इंदाैर में दाे और संभाग के प्रत्येक जिले के पास एक-एक वैन है। चूंकि इंदौर में टीकाकरण केंद्रों की संख्या ज्यादा है, इसलिए यहां तीन वैक्सीनेशन-वैन का इस्तेमाल किया जाएगा।

जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. तरुण गुप्ता ने बताया कि एक लाभार्थी को 0.5 एमएल का डोज लगाया जाएगा। एक वायल से 10 स्वास्थ्यकर्मियों को वैक्सीन लगाया जा सकेगा। इस पर तय किया गया कि एक व्यक्ति की बजाय आठ-दस लोगों के केंद्र पर पहुंचने पर उन्हें वैक्सीन लगाई जाए।

आठ लॉन्चिंग सेंटर

  • एमजीएम मेडिकल कॉलेज
  • अरबिंदो मेडिकल कॉलेज
  • अपोलो राजश्री हॉस्पिटल
  • हुकमचंद पॉलीक्लिनिक
  • बॉम्बे हॉस्पिटल
  • यूनिक हॉस्पिटल
  • चोइथराम अस्पताल
  • सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र देपालपुर

एम्बुलेंस 108 को तैनात रहने के आदेश
टीकाकरण केंद्रों पर किसी भी तरह के साइड इफेक्ट से निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने तैयारी कर ली है। नेशनल हेल्थ मिशन संचालक ने सभी जिलों के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों को आदेश दिए हैं कि टीकाकरण सत्र के दौरान एम्बुलेंस केंद्रों पर अनिवार्य रूप से तैनात रहे।

वैक्सीनेशन को लेकर ये है खास

  • 10,000 स्वास्थ्यकर्मियों को वैक्सीन लगाया जाएगा एक दिन में।
  • 100 लोगों को (अधिकतम) वैक्सीन लगाया जाएगा एक सेंटर में।
  • 18 फोकल पॉइंट शहर में, जिले में 40 फोकल पॉइंट, जहां से वैक्सीन का डिस्ट्रीब्यूशन होगा।
  • 2 वैक्सीन वैन होंगी शहर में, जिनसे वैक्सीन को फोकल पॉइंट तक भिजवाया जाएगा।
  • 1 दिन पहले कोविन-एप से एसएमएस के माध्यम से टीका लगवाने वाले को सूचना दी जाएगी।
  • वैक्सीनेशन के लिए आईडी कार्ड लाना अनिवार्य होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here