सतपुड़ावाणी ब्यूरो,भोपाल:  किसान बड़े परेशान सूखे की मर किसनो की खरीफ फसलों पर किस कदर पड़ा है,
इसका अंदाज़ा प्रधानमंत्री फसल बी(Prime minister crop insurance)मा योजना के प्रारंभिक दावों को देखकर लगाया जा सकता है। करीब 22 लाख किसानों को आठ हजार करोड़ रुपए तक सरकार फसल बीमा में बांट सकती है। इसके लिए जिलों से दावे बुलवाने का काम शुरू हो गया है ।
22 नवंबर को एक क्लिक पर सवा लाख से ज्यादा किसानों को करीब ढाई सौ करोड़ रुपए भावांतर भुगतान योजना के खाते में दिए जाएंगे ।
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान( shivraj singh news) ने  सोमबार  की सुबह  मंत्रलय मे अपनी बात रखते हुए और किसनो  को अपना आधिकर  देना के  लिए भावांतर भुगतान योजना की वीडियो कान्फ्रेंस के जरिए समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने कमिश्नर, आईजी, कलेक्टर और पुलिस अधीक्षकों से कहा कि जो किसान योजना में शामिल होने से छूट गए थे, उनके लिए 15 से 25 नवंबर तक पोर्टल खोला गया है। देशभर की निगाह योजना पर लगी है। इसमें किसी तरह की कोई गड़बड़ी नहीं होनी चाहिए। मंडियों में विशेष निगाह रखें।

टीम से बाहर होने पर हार्दिक पांड्या ने कर दिया ऐसा ट्वीट

सरकार के मास्टर स्ट्रोक का दारोमदार तंत्र पर

पाकिस्तान ने भारत को अमेरिकी सशस्त्र ड्रोनों की आपूर्ति का विरोध किया

उन्होंने छह जिले (भोपाल, सीहोर, देवास, नरसिंहपुर, होशंगाबाद और हरदा) मे  उड़त के दम कम लगे और गड़बड़ लगी तो कहा की कलेक्टरों से कहा कि मंडियों में दौरे करें। यदि भाव कम लग रहे हैं तो नीलामी निरस्त कर फिर से बोली लगवाएं ।
प्रमुख सचिव कृषि डॉ. राजेश राजौरा ने बैठक मे कहा की केंद्रीय सरकर ने तीन लाख टन सोयाबीन खरीदने
का लक्ष्य दिया है। उधर मध्यप्रदेश में भावांतर योजना में ही 11 लाख टन की खरीदी हो चुकी है।
मुख्यमंत्री ने सुखी फसल के कारण प्रभावित हुई खरीफ फसल के लिए बीमा जैसी योजना बनाई है, जिससे किसनो को  मुकसान न हो और बीमा का काम ठीक ढंग से हो इसका आदेश दिया है| साथ ही कहा कि इसके लिए सभी औपचारिकताएं समय पर पूरा हो |
अधिकारियों ने बताया की फसल बीमा की योजना से अनुमान लगया गया है की हिसाब से करीब 22 लाख किसानों को आठ हज़ार क रोड़ रुपए का फसल बीमा मिल सकता है | इस पे मुख़्यमंत्री ने कहा कि बीमा किसानों के लिए संजीवनी साबित होगा, इसलिए इसमें कोई कसर न छोड़ी जाए। बैठक में ही उन जिलों के कलेक्टरों को आंकड़े दुरुस्त करने के निर्देश दिए गए, जहां बीमित रकबा और बोवनी के क्षेत्र में अंतर सामने आया था।
Tag’s:   Prime minister crop insurance , bhavantar yojna ,  shivraj singh news  , Bhopal news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here