Drugs Mafia Indore इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। ड्रग सप्लायर प्रीति जैन उर्फ आंटी, उर्फ काजल उर्फ सपना पर पुलिस ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। जांच कर रही एसआइटी अब उस पर सफेमा के तहत कार्रवाई करने की तैयारी में है। इस कार्यवाही के तहत आंटी की पूरी प्रॉपर्टी को राजसात करवाया जाएगा। एसआइटी का मानना है कि उसने जो धन अर्जित किया है वह ड्रग्स व देह व्यापार के जरिये किया गया है और वह कालाधन की श्रेणी में आता है।

एसपी (पूर्वी-2) विजय खत्री के मुताबिक आंटी पर नार्कोटिक ड्रग एंड साइकाेट्रॉपिक पदार्थ (एनडीपीएस) एक्ट के तहत केस दर्ज है। नाइजीरियन और ब्राजील तस्करों से उसके संबंध है। कॉलेज, स्कूल, पब, कैफे, बार, रेस्त्रां में वर्षों से ड्रग्स सप्लाई कर रही है। लाखों रुपये महीने खर्च करने वाली आंटी ने ड्रग्स से ही करोड़ों रुपये कमाए है। घर में साज सज्जा का सामान, बेटे यश के लिए खरीदी कारें, ज्वेलरी और बैंक खातों में लाखों रूपयों का बैलेंस भी ड्रग्स बेच कर जमा किया गया है। एेसे मामले में पुलिस अब राजसात करने का प्रस्ताव तैयार कर रहे है। सफेमा यानी स्मगलर एंड फॉरेन एक्सचेंजर मैनिपूलेटर एक्ट के तहत मुंबई मुख्यालय में प्रस्ताव भेजा जाएगा।

बड़ा सवाल: क्या रसूखदारों पर भी कसेगा शिकंजा

पुलिस ने आंटी के अलावा फाइनेंसर हरीश अरोरा के बेटे निखिल अरोरा और मार्बल कारोबारी जैद को भी एनडीपीएस एक्ट में गिरफ्तार किया है। कई लोग अभी भी फरार है। ऐसे में सवाल यह है कि क्या पुलिस आंटी पर ही सफेमा के तहत कार्रवाई करेगी या रसूखदारों पर भी इसका शिकंजा कसा जाएगा

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here