जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। अयोध्या में श्रीराम जन्म भूमि पर बनने वाले भव्य मंदिर निर्माण के लिए देशभर से प्रत्येक राम भक्त का सहयोग लिया जाएगा। विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ता संतों के साथ घर—घर जाएंगे। यह जानकारी विश्व हिंदू परिषद के राजेश तिवारी ने दी। पत्रकारवार्ता में उन्होंने बताया कि मकर संक्रांति 15 जनवरी से 27 फरवरी के मध्य चलने वाले इस सघन अभियान में विश्व हिदू परिषद के कार्यकर्ता देशभर के चार लाख गांव के 11 करोड़ परिवार से संपर्क कर सहयोग जुटाएंगे। इस अभियान में हर जाति,मत,पंथ संम्प्रदाय, क्षेत्र और भाषा के लोगों से सहयोग लिया जाएगा।

राजेश तिवारी ने बताया कि मंदिर निर्माण की तैयारी हो रही है मुबंई, दिल्ली, चैन्नई तथा गुवाहटी के आइआइटीसीबीआरटी रूढ़की, लार्सन एंड टयूब्रो तथा टाटा के विशेषज्ञ इंजीनियर मंदिर की मजबूत नींव की ड्राइंग पर परामर्श कर रहे हैं। जल्द ही नींव का ड्राइंग तैयार हो जाएगा। उनके मुता​बिक राम मंदिर का पूरा निर्माण पत्थरों से होगा। मंदिर के प्रत्येक मंजिल की उंचाई 20 फीट, लंबाई 360 फीट और चौड़ाई 234 फीट तय है। उनके अनुसार देश की युवा पीढ़ी को मंदिर के इतिहास की सच्चाई से अवगत कराने की योजना बन रही है। देश की कम से कम आधी जनसंख्या को घर—घर जाकर श्रीराम जन्मभूमि की ऐतिहासिक सच्चाई बताई जाएगी। उनके अनुसार संपर्क अभियान में लाखों कार्यकर्ताओं का सहयोग लिया जाएगा। धन संग्रह में पारदर्शिता बनाए रखने के लिए न्यास ने 10 रुपये, 100 रुपये तथा 1000 हजार रुपये के कूपन तथा रसीदे छापी है। समाज जैसा देगा उसी के अनुरूप कार्यकर्ता उन्हें कूपन या रसीद देंगे। इसके अलावा कार्यकर्ता करोड़ों घरों में भगवान के मंदिर का चित्र भी पहुंचाने का काम करेंगे।

महाकोशल प्रांत में 50 लाख परिवारों तक पहुंचेंगे: प्रदेश अभियान समिति के अध्यक्ष महामंडलेश्वर स्वामी अखिलेश्वरानंद गिरी ने बताया कि महाकोशल प्रांत में कुल 25 हजार गांव है इसमें 60 लाख परिवार और 3 करोड़ की आबादी है। कार्यकर्ता हर गांव के करीब 50 लाख परिवारों तक प्रचार—प्रसार करने जाएंगे। पत्रकारवार्ता में प्रांत अभियान प्रमुख आलोक सिंह चौहान,उपाध्यक्ष वाणी अहलूवालिया,प्रांत संगठन मंत्री सुरेंद्र जी मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here