अंहकार का गुब्बारा फूट रहा है, पुलिस से लेकर हर विभाग मे होता है मंत्री का हस्तक्षेप। गृहमंत्री ही डूबा सकते हैं शिवराज की नैया शिवराज के आईकान कहे जाने प्रदेश के दबंग गृहमंत्री भूपेन्द्र सिंह ही शिवराज सरकार को 2018 में डुबाने का कार्य कर रहे हैं प्रदेश की लचर कानून व्यवस्था प्रदेश में लगातार बढ़ रहे गैंगरेप चोरी हत्याओं के मामले से जनता अपने आप को सुरक्षित महसूस नहीं कर रही है इसका खामियाजा किसी और को नहीं।

प्रदेश के मुखिया को 2018 में भुगतना पढ़ सकता है कानून की लचर व्यवस्था के जिम्मेदार कहीं ना कहीं से गृहमंत्री को माना जा रहा है पुलिस विभाग में बगैर गृहमंत्री की अनुमति से कोई भी कार्यवाही नहीं की जा सकती इनके आदेश के बगैर अफ़सर अगर कार्रवाई करते हैं तो उन्हें अपनी नौकरी बचाना तो मुश्किल ही है और उनके राज में रहना भी मुश्किल हो जाता है।

गृहमंत्री के कारण 2018 के चुनाव में भाजपा को जनता करारा जवाब दे सकती है-गृह मंत्री ने शायद ही एकाद बार जिले की जनता का दुख दर्द जाना हो। खुरई विधानसभा क्षेत्र मैं भी 2-4 खास लोगों के अलावा किसी गरीब से बात की हो अब ऐसे आप सभी सोच सकते हैं कि कया होगा जिले 8 विधानसभा में से 7 विधायको से गुटबाजी के चलते सभी से विरोध है।

मुख्यमंत्री के नजदीकी होने के कारण सभी के खिलाफ मुख्यमंत्री के कान भर दिये जाते है। और सिर्फ अपने आप को खास बनाने के लिए अब ये विधायक अपनी विधानसभा में पकड़ तो रखते हैं ही और टिकट काटने के बाद कया होगा। शिवराज सरकार के दबंग आई कान कहे जाने वाले कद्दावर मंत्री ही शिवराज की सरकार को डुबाने का कार्य कर रहे हैं।

अब तो प्रदेश की जनता भी माननीय से त्रस्त हो चुकी है हालांकि शिवराज सरकार के हारने से इनहे कोई अंतर नहीं पड़ेगा। इनका तो सफर लगभग तय हो चुका है। दीपाली होटल से लेकर दीपाली नगर पेट्रोल पंप तक तो वहीं विधानसभा क्षेत्र के तीनों कोनों मे बंगले और प्रापर्टी बना ली गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here