1. महात्मा गाँधी जी के जन्मदिवस  अवसर पर मैं आज आपके साथ उनके द्वारा दिए गए Top 10 अनमोल वचन को share करूँगा. उससे पहले चलिए महात्मा गाँधी जी के बारे में ब्रिएफ्ली जान लेते हैं.महात्मा गाँधी जी का जनम 2 अक्तूबर 1869 में पोरबंदर, काठियावाड़, भारत में हुआ था. उनका पूरा नाम मोहनदास करमचन्द गांधी था.

    Wikipedia के अनुसार,

    “वे भारत एवं भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के एक प्रमुख राजनैतिक एवं आध्यात्मिक नेता थे। वे सत्याग्रह (व्यापक सविनय अवज्ञा) के माध्यम से अत्याचार के प्रतिकार के अग्रणी नेता थे, उनकी इस अवधारणा की नींव सम्पूर्ण अहिंसा के सिद्धान्त पर रखी गयी थी जिसने भारत को आजादी दिलाकर पूरी दुनिया में जनता के नागरिक अधिकारों एवं स्वतन्त्रता के प्रति आन्दोलन के लिये प्रेरित किया। उन्हें दुनिया में आम जनता महात्मा गांधी के नाम से जानती है। संस्कृत भाषा में महात्मा अथवा महान आत्मा एक सम्मान सूचक शब्द है।

    गांधी को महात्मा के नाम से सबसे पहले 1915 में राजवैद्य जीवराम कालिदास ने संबोधित किया। उन्हें बापू (गुजराती भाषा में બાપુ बापू यानी पिता) के नाम से भी याद किया जाता है। सुभाष चन्द्र बोस ने 6 जुलाई 1944 को रंगून रेडियो से गान्धी जी के नाम जारी प्रसारण में उन्हें राष्ट्रपिता कहकर सम्बोधित करते हुए आज़ाद हिन्द फौज़ के सैनिकों के लिये उनका आशीर्वाद और शुभकामनाएँ माँगीं थीं। प्रति वर्ष 2 अक्टूबर को उनका जन्म दिन भारत में गांधी जयंती के रूप में और पूरे विश्व में अन्तर्राष्ट्रीय अहिंसा दिवस के नाम से मनाया जाता है।”

    आप गाँधी जी के बारे में Wikipedia पर विस्तार में हिन्दी में यहाँ से पढ़ सकते हैं: महात्मा गांधी – विकिपीडिया

    तो चलिए महात्मा गाँधी जी के उत्तम विचारों को जानते हैं. यहाँ नीचे महात्मा गाँधी के द्वारा दिए गए Top 10 Quotes दिए गएँ हैं और साथ में उनका Infographic भी दिया गया है जिसे आप share भी कर सकते हैं.

    Mahatma Gandhi ke Top 10 Quotes in Hindi

    1. अपने आप को find करने का सबसे बढ़िया तरीका है, अपने आप को दूसरों की सेवा में lose कर दो.
    2. ऐसे जियो जैसे तुम्हे कल मर जाना था. ऐसे सीखो जैसे तुम्हे हमेशा जीना है.
    3. जहाँ पर प्यार है वहां पर जीवन है.
    4. मेरी जिन्दगी मेरा message(सन्देश) है.
    5. वह Health (सेहत) है जो असली दोलत है, सोने और चांदी के टुकड़े नहीं.
    6. ताकत दो तरह की होती है. एक जो सज़ा के डर से बनायी जाती है और दूसरी जो प्यार के acts से बनायी जाती है. प्यार वाली ताकत सज़ा के डर से बनायी गयी ताकत से हज़ार गुणा ज्यादा असरदार होती है.
    7. संतुष्टि efforts (कष्टों) में समायी होती है, attainment ( उपलब्धि) में नहीं, पूर्ण efforts ही पूर्ण जीत है.
    8. Strength (ताकत) physical capacity (शारीरिक क्षमता) से नहीं आती. यह indomitable (अजय) will (सोचने की शक्ति) से आती है.
    9. आपको इंसानियत में विश्वास नहीं खोना चाहिए. इंसानियत एक समुन्दर है; यदि समुन्दर में कुछ बूंदे गन्दी होती हैं, समुन्दर गन्दा नहीं हो जाता.
    10. कोई भी मुझे मेरी इजाज़त के बिना नुकसान नहीं पहुंचा सकता.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here