• चरित्र शंका में क्रूरता, जनता बनी रही तमाशबीन,
  • महिला की हालत गंभीर, आरोपी फरार

विद्यानगर क्षेत्र में मंगलवार सुबह दिल दहला देने वाली वारदात से सनसनी मच गई। चरित्र शंका में एक महिला को उसके ही पति, सास-ससुर और एक अन्य महिला रिश्तेदार ने घर में बंद कर उसकी जीभ, स्तन और गाल काट दिए। क्रूरता की हदें पार करते हुए उसे मारते हुए घर के बाहर तक लेकर आए और उसे मरा हुआ समझकर घर के बाहर ही फेंककर फरार हो गए।

इस दौरान क्षेत्रवासी तमाशबीन की तरह दूर से ही महिला के साथ हो रही इस क्रूरता का नजारा देखते रहे लेकिन किसी ने भी उसे बचाने की हिम्मत नहीं दिखाई। आरोपियों के फरार होने के बाद भी लगभग 10 मिनट तक घायल महिला तड़पती रही लेकिन किसी ने भी उसके पास जाने तक की हिम्मत नहीं दिखाई। गंभीर रूप से घायल महिला को इंदौर रैफर किया है, जहां उसकी हालत चिंताजनक बनी हुई है। मामले में बिरलाग्राम थाना पुलिस ने पति, सास-ससुर व एक अन्य महिला रिश्तेदार के खिलाफ प्राणघातक हमले का प्रकरण दर्ज किया है।

विद्यानगर में बने मकान से आ रही थी चिल्लाने की आवाज, बाहर तक खींचकर लाए

घटनास्थल पर फैला खून और वह बेलन, जिसे महिला के गले में ठूंसा गया।
घटनास्थल पर फैला खून और वह बेलन, जिसे महिला के गले में ठूंसा गया।

मंगलवार सुबह विद्यानगर की मुख्य सड़क पर ही बने एक मकान से एक महिला के चिल्लाने की आवाजें आ रही थी। इसके बाद मारते हुए महिला को बाहर लेकर आए और खून से लथपथ महिला को मरा हुआ समझकर घर के बाहर ही फेंक कर आरोपी फरार हो गए। सूचना मिलते ही मंडी थाना प्रभारी श्यामचंद्र शर्मा मौके पर पहुंचे। 35 वर्षीय घायल महिला तब तक जीवित थी। आरक्षक जितेंद्र सेंगर व यशपाल सिंह सिसौदिया की मदद से उसे पहले जनसेवा अस्पताल पहुंचाया गया। इसके बाद उसे उज्जैन भेजा गया।

वहां भी स्थिति गंभीर होने पर महिला को इंदौर रैफर कर दिया गया। बिरलाग्राम थाना पुलिस ने बताया पति राजेश सोलंकी, ससुर सीताराम, सास गेंदाबाई और मौसी सास कलाबाई निवासी मेहतवास के खिलाफ धारा 307 के अंतर्गत प्राणघातक हमले का प्रकरण दर्ज किया है। पुलिस ने तीन अलग-अलग टीमें आरोपियों को पकड़ने के लिए रवाना की है। थाना प्रभारी शर्मा ने बताया प्रथम दृष्टया मामला चरित्र शंका का प्रतीत हो रहा है। केस दर्ज कर जांच की जा रही है।

15 साल पहले हुई थी शादी, पहले भी की थी मारपीट की शिकायत
15 साल पहले महिला की शादी राजेश के साथ हुई थी। उनके 14 और 5 वर्षीय दो पुत्र भी हैं। राजेश ट्रक ड्राइवर है और अधिकांश वह घर से बाहर रहता था। महिला के सास-ससुर जी-ब्लॉक टापरी में रहते हैं। महिला अपने रिश्तेदार के साथ कहीं चली गई थी। एक दिन पहले ही राजेश उसे लेकर आया था। इसी वजह से उसकी हत्या का षड्यंत्र रचा गया।

घर के अंदर खून साफ किया, बाहर से ताला लगाकर फरार हो गए
आरोपियों की क्रूरता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उन्होंने तलवार व अन्य हथियार से महिला की जीभ, गाल, जबड़ा और एक स्तन काट दिया। एक बेलन भी महिला के मुंह और प्राइवेट पार्ट में घुसाया। आसपास के लोगों को जोर-जोर से महिला के बचाने की आवाजें आती रही लेकिन कोई उसे बचाने नहीं आया। इसके बाद उसे मारते हुए आरोपी घर के बाहर ले आए। तब भी लोग दूर से ही देखते रहे।

पति राजेश तलवार लहराता हुआ बाहर निकला और लगभग 10 मिनट तक घर के आसपास तलवार लिए घूमता रहा। आरोपियों को लगा कि महिला मर चुकी है, इसलिए उसे बाहर ही छाेड़कर सभी घर के बाहर ताला लगाकर फरार हो गए। दोपहर को पुलिस ने चाबी बनाने वाला बुलवाया और घर के भीतर जाकर जांच की। घर के भीतर एक ही जगह थोड़ा खून मिला। आरोपियों ने पूरे योजनाबद्ध तरीके से पहले महिला को मारने का प्रयास किया और घर के भीतर खून भी साफ किया। पुलिस को खोजबीन के दौरान कटे हुए अंग भी घटनास्थल से नहीं मिले।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here