• शुक्रवार को अधिकतम तापमान 21.4 डिग्री रहा था
  • लगातार गिर रहा है न्यूनतम तापमान
  • अंचल सहित ग्वालियर शीत लहर की चपेट में है। यही कारण है कि अंचल के कई जिलों में तापमान बीते चार से पांच दिन में 8 डिग्री तक नीचे गिरा है। शुक्रवार को पूरे प्रदेश में दतिया और ग्वालियर सबसे ज्यादा ठंडे रहे थे। शनिवार की सुबह भी कुछ इस तरह की लग रही है। शनिवार सुबह न्यूनतम तापमान 4.1 डिग्री सेल्सियस रहा है। बीती रात को अभी तक की सबसे ठंडी रात माना गया है। शीत लहर से अब दिन का तापमान भी गिरेगा।

    आखिरकार मौसम विभाग ने शीत लहर चलने की घोषणा कर दी है। जम्मू-कश्मीर में बर्फबारी के बाद पूरे उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में कड़ाके की ठंड का दौर शुरू हो चुका है। शीत लहर ने अंचल सहित शहर को अपनी चपेट में लिया है। यही कारण है कि लोग घरों से नहीं निकल रहे हैं। सड़कों पर जगह-जगह अलाव जलते दिख रहे हैं। मौसम वैज्ञानिक सीके उपाध्याय की माने तो अब कोई सिस्टम नहीं है जो मौसम को प्रभावित करे। इसलिए बर्फबारी होने से ठंडी हवा इसी तरह कहर बरसाती रहेगी। आने वाले दो से तीन दिन में पारा और नीचे जा सकता है। रात की अपेक्षा अब दिन के तापमान में गिरावट आएगी जो ज्यादा खतरनाक होगा। साथ ही कोहरा भी जल्द आने वाला है। अगले 24 घंटे में कोहरा आने की संभावना है।

    सुबह साढ़े आठ बजे तक 6.4 डिग्री

    पारा किस चाल से चल रहा है उसका अंदाजा आप आसानी से लगा सकते हैं। रात को न्यूनतम तापमान 4.1 डिग्री रहा। इसके बाद सुबह 6.30 बजे यह पारा 5.4 और साढ़े आठ बजे तक 6.4 डिग्री ही रहा है। इससे अंदाजा है कि दिन में तापमान काफी कम रह सकता है।

    यह चार कारण कर रहे मौसम को प्रभावित

    • कहीं कोई सिस्टम सक्रिय नहीं है
    • हवा से नमी कम है
    • उत्तर भारत में पहाड़ों पर लगातार बर्फ गिर रही है
    • धुंध के कारण धूप तेज नहीं लग रही है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here