घटनास्थल पर जांच करती पुलिस।
  • मझगवां क्षेत्र के फनवानी गांव की घटना, परिवार की आर्थिक स्थित थी खराब

जिला मुख्यालय से 45 किमी दूर मझगवां क्षेत्र के फनवानी गांव में शनिवार को दिल दहला देने वाला वाकया सामने आया। शुक्रवार रात पैसे खर्च करने को लेकर बाप-बेटे में कहासुनी हुई। सुबह नौ बजे पहले इकलौता बेटे फिर पिता ने आम के पेड़ से लटककर फांसी लगा ली। दोनों की लाश 35 मीटर के अंतराल में दो पेड़ों से लटकता देख ग्राम कोटवार ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने केस दर्ज कर जांच में लिया है।

पिता चतुर्भुज का शव पेड़ से लटकते हुए।
पिता चतुर्भुज का शव पेड़ से लटकते हुए।

गांव के बाहर खेत में लटके मिले पिता-पुत्र
फनवानी गांव निवासी चतुर्भुज पटेल (53) और उसका इकलौता बेटा सरमन पटेल (28) सुबह नौ बजे 20 मिनट के अंतराल पर घर से निकले। पहले बेटा सरमन निकला था। इसके बाद, दोनों की लाश गांव के बाहरी छोर पर उनके ही खेत में लगे दो आम के पेड़ से लटकती मिली। सूचना पर ग्रामीण मौके पर पहुंचे, लेकिन तब तक मौत हो चुकी थी।

बेटे सरमन पटेल की लटकी लाश को देखते हुए ग्रामीण।
बेटे सरमन पटेल की लटकी लाश को देखते हुए ग्रामीण।

परिवार में सिर्फ तीन सदस्य थे
चतुर्भुज पटेल बेटी अर्चना की शादी पहले ही कर चुके हैं। इकलौता बेटा सरमन पटेल, पत्नी तोतीबाई ही घर में थे। खुद के नाम पर थोड़ी जमीन थी। इस कारण सिकमी पर खेत लेकर खेती करते थे। परिवार आर्थिक तंगी से गुजर रहा है। घर की भी माली हालत अच्छी नहीं है। सिकमी पर धान लगाया था। धान बेचकर घर में कुछ पैसे आए थे। बेटे ने इसमें कुछ रकम खर्च कर दी थी। इसी बात को लेकर पिता-पुत्र में रात में कहासुनी हुई थी। दोनों ने गुस्से के चलते रात में खाना तक नहीं खाया था। बेटा व पति ने नहीं खाया, तो तोतीबाई भी भूखे पेट ही सो गई थी।

गांव वालों से घटना की जानकारी लेती हुई पुलिस।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here